होम Mobile Phones Whatsapp को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, अगर आपको ऐप पसंद नहीं...

Whatsapp को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, अगर आपको ऐप पसंद नहीं तो डिलीट कर दीजिए

Whatsapp को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई

Whatsapp की तरफ से कुछ दिनों पहले लाई गई नई प्राइवेट policy को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई। दिल्ली हाईकोर्ट में दायर चुनौती पर सुनावई करते हुए कोर्ट ने सोमवार को नई policy को लेकर व्हाट्सएप और फेसबुक को नोटिस भेजने से मना कर दिया।

होईकोर्ट ने किसी भी तरह का कोई नोटिस जारी नहीं किया

हाईकोर्ट में यह अपील की गई थी कि सरकार को व्हाट्सएप की नई policy को लेकर कार्रवाई करनी चाहिए। इस याचिका में नई policy को निजता का उल्लंघन बताया गया है।

हालांकि, हाईकोर्ट ने इस मामले में किसी भी तरह का कोई नोटिस जारी नहीं किया है। हाईकोर्ट ने यह भी कहा है कि इस पर विस्तृत सुनवाई की जरूरत है। अब इस केस की अगली सुनवाई 25 जनवरी को होना है।

सरकार इसके खिलाफ सख्त कदम उठाए

दिल्ली हाईकोर्ट में दायर याचिका में यह कहा गया है कि Whatsapp जैसा प्राइवेट ऐप आम लोगों से जुड़ी व्यक्तिगत जानकारियों को शेयर करना चाहता है। इस पर रोक लगाने की आवश्यकता है। ऐसे में सरकार को इसके खिलाफ सख्त से सख्त कदम उठाना चाहिए।

Also read :

Whatsapp ने स्टेटस अपडेट के जरिए दी अपनी प्राइवेसी पॉलिसी की सफाई, 4 स्टेप्स में दी सफाई

Google ने की Online loan देने वाले कुछ ऐप्स पर बड़ी कार्रवाई

अगर आपको Whatsapp पसंद नहीं तो डिलीट कर दीजिए

दिल्ली हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता की मांग पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि Whatsapp एक निजी ऐप है। अगर इस ऐप से किसी को भी किसी भी प्रकार की कोई परेशानी है और अगर आपको ऐसा लगता है कि यह ऐप आपकी निजता को प्रभावित कर रहा है तो आप इसे डिलीट कर दीजिए।

हाईकोर्ट ने आगे यह भी कहा है कि ऐसे कई ऐप हैं जिसके साथ आप अपना डेटा शेयर करते हैं। किसी मैप या ब्राउजर के साथ भी डाटा शेयर किया जाता है। गौरतलब है कि Whatsapp की नई प्राइवेसी policy को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। इसको देशभर में आलोचना की जा रही है। लोग इसे अपनी निजता में दखल मान रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Batla House Encounter : आरोपी अरीज खान बाटला हाउस का दोषी पाया गया, 2008 के विस्फोटों का मास्टरमाइंड भी #Batla House Encounter

Batla House Encounter : आरोपी अरीज खान 2008 के विस्फोटों का आरोपी Batla House Encounter : एक स्थानीय अदालत...

जानें क्या होता है सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड लोन, दोनों में क्या अंतर है

लोन का जिक्र घूमने पर दो शब्द अक्सर सुनाई देते हैं- सिच्योर्ड लोन और अनसिक्ट्योर्ड लोन। हालांकि ज्यादातर लोगों को इन दोनों...

मार्च के महीने में निपटा लें फाइनेंस और टैक्स के ये जरूरी काम, नहीं तो परेशान होंगे

मार्च के महीने में करदाताओं को टैक्स से जुड़े कई जरूरी काम करने होते हैं। मार्च महीने के...

टैक्स सेविंग टिप्स: ये 5 खर्चे बचाते हैं आपका टैक्स, जानें इनके बारे में

हर कोई विभिन्न तरह के निवेश के जरिए अपनी कमाई को टैक्स के रूप में देने से बचाने की कोशिश करता है। ...

Recent Comments