hi.wikipedia.org Banyan Tree in Hindi | Bargad ka Ped | Banyan Tree | बरगद का महत्व | बरगद के पेड़ के फायदे | Information About Banyan Tree in Hindi | Banyan Tree Benefits

Banyan Tree Meaning in Hindi

भारत में पाए जाने वाला एक विशाल पेड़ जिसे वट वृक्ष या बरगद का पेड़ कहते है। Banyan Tree in Hindi जिसकी जड़े शाखाओं से निकलती है, Bargad ka Ped और यह धीरे धीरे बड़ी होकर जमीन को छूने लगती है। जमीन में आने के बड़ यह जड़े एक स्तम्भ के रूप में पेड़ के साथ जुड़ जाती है, और एक नए तने को विकसित करती है। hi.wikipedia.org

बरगद का पेड़ की जानकारी

बरगद का पेड़ एक विशाल और बड़ी शकाओं वाला वृक्ष है। Banyan Tree कुछ लोगो को यह नहीं पता होता है, की भारत का राष्ट्रीय वृक्ष क्या है? बरगद का पेड़ भारत का राष्ट्रीय वृक्ष है।

बरगद को सन 1950 में भारतीय वृक्ष बनाया गया था। यह भारत के सभी हिस्सों में पाया जाता है। इस पेड़ की छाया बहुत ही ठंडी होती है। गर्मियों के दिनों में लोग इसकी छाया में बैठना पसंद करते है।

कुछ पुरानी किवदंतियो के अनुसार, यह पेड़ इतना बड़ा हो सकता है, की इसके चारो और लगभग 80000 से 10000 लोग बहुत आसानी से बैठ सकते है। बरगद के पेड़ को अंग्रेजी भाषा में Banyan Tree कहते है।

कुछ लोगो का ऐसा मानना है, की इस पेड़ का नाम बनिया इस लिए पड़ा क्योकिं पुराने समय में भारत के व्यापारी गर्मियों के दिंनो में रास्ते में इस पेड़ की छाया में आराम करने के लिए बैठा करते थे।

बरगद का पेड़ भारत के अलावा इसके नजदीकी देशो पाकिस्तान, बांग्लादेश, और म्यांमार के उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में भी पाया जाता है।

hi.wikipedia.org Banyan Tree in Hindi | Bargad ka Ped | Banyan Tree | बरगद का महत्व  | बरगद के पेड़ के फायदे
hi.wikipedia.org Banyan Tree in Hindi | Bargad ka Ped | Banyan Tree | बरगद का महत्व | बरगद के पेड़ के फायदे

इसे भी पढ़ेंः 

बरगद के पेड़ के फायदे – Benefits of Banyan Tree in Hindi

बरगद का पेड़ (bargad ka ped ) न केवल धार्मिक द्रष्टिकोण से ही उपयोगी है अपितु इसके अनेक चिकित्सीय गुण ( bargad ke ped ke fayde) भी है, जो इसको उपयोगी साबित करते है. जैसे

• बरगद के वृक्ष का पता बहुत विशाल होता है और इस पेड़ की पत्तियों (bargad ka patta) का उपयोग स्तन की गांठ के इलाज के लिए होता है।

• बरगद के वृक्ष में कई औषधियों गुण होते हैं, ऐसा आयुर्वेदिक के अनुसार माना जाता है, बरगद के वृक्ष से कई बीमारी का इलाज किया जा सकता है।

. केबल बरगद के पेड़ का ही नहीं छाल, बरगद की बीज और बरगद के तने का उपयोग कई रोगों जैसे पेट के इलाज के लिए उपयोग में लिया जाता है। • बरगद के वृक्ष से नाक कान और बाल के समस्या दूर हो सकती है।

• कफ पित्तनाशक वेदनास्थापन, व्रण रोपण, रक्तशोधक, शोधहर चक्षुष्य, स्तम्भन, रक्त पितहर शुक्रस्तम्भन, और गर्भाशय के लिए फायदेमंद है। इस पेड़ के पत्तियों से कई वायरल इंफेक्शन कार कर सकते हैं।

बरगद के वृक्ष बहुत घना होने के कारण उससे छाव भी ले सकते हैं।

. बवासीर के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है।

• तनाव से मुक्ति के इलाज में उपयोग।

जोड़ों के दर्द निवारण में उपयोग।

बरगद के पेड़ से नुकसान – Bargad ka ped

• अगर आप किसी भी प्रकार की दवाओं का प्रयोग कर रहें हो तो बरगद का उपयोग करने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह ले लेनी चहिए। क्योकि कई लोगो को यह उस समय कुछ दिक्कत भी हो सकती है।

• बरगद के वृक्ष पत्रों, जड़, छाल या बरगद के दूध का प्रयोग करने पर यदि आपको कोई नुकसान तो इनका प्रयोग शीघ्र बंद कर दें और डॉक्टर से सलाह ले लेना चहिए।

• बरगद वृक्ष में बहुत से जहरीले जीव रहते हैं सांप बिच्छू जैसे खतरनाक जीव रहते हैं। इसलिए बरगद के पेड़ से बच्चों को दूर रहना चाहिए उससे उन्हें नुकसान हो सकता है।

hi.wikipedia.org Banyan Tree in Hindi | Bargad ka Ped | Banyan Tree | बरगद का महत्व | बरगद के पेड़ के फायदे | Information About Banyan Tree in Hindi | Banyan Tree Benefits

Leave a Comment