होम News COWIN पोर्टल : Aarogyasetu app पर आया नया फीचर, घर बैठे ही...

COWIN पोर्टल : Aarogyasetu app पर आया नया फीचर, घर बैठे ही टीकाकरण से जुड़ी जानकारी प्राप्त करें

COWIN पोर्टल, Arogyasetu app

COWIN पोर्टल, Aarogyasetu app पर अब आप साइन अप करके नामांकन और टीकाकरण से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Arogyaarti app : टीकाकरण से जुड़ी सारी जानकारी घर बैठे ही

दरअसल अब Arogyasetu app पर ऐसा नया फीचर आ गया है जिससे अब कोई भी व्यक्ति साइन अप करके घर बैठे ही टीकाकरण से जुड़ी समस्त जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकता है।

वहीं आधार पर आधारित नामांकन प्रक्रिया बुजुर्गों के लिए COWIN के प्लेटफ़ॉर्म पर कोमॉर्बिडिटी वाले लोगों के लिए रोल आउट किए जाने की संभावना है, जिसे Arogyasetu app के साथ जोड़ना है।

Arogyasetu app का उपयोग विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम में

इस app के द्वारा स्वास्थय संबंधी अपडेट पाने के लिए सिंगल विंडो इंटरफेस को 170 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं की तरफ से डाउनलोड किया गया है।

अब Arogyasetu app का उपयोग विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम में किया जाएगा। एक बार फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण पूरा हो जाने के बाद यह मॉड्यूल जल्द ही सक्रिय हो जाएगा।

इसके साथ ही मीटीवाई की तरफ से विकसित रैपिड असेसमेंट सिस्टम (RAS) के माध्यम से एक प्रतिक्रिया मॉड्यूल को भी एकीकृत किया जा रहा है।

covid-19 महामारी के खिलाफ सरकार ने डोर-टू-डोर सर्वेक्षण करवाया

सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, सरकार ने पिछले साल अब तक covid-19 महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में सख्ती के साथ डोर-टू-डोर सर्वेक्षण करवाया था।

सख्ती से ट्रैक करने के लिए Arogyasetu app और अस्पताल के आंकड़ों ने लाखों भारतीयों की उम्र के मुताबिक तैयार जानकारी प्रदान की।

COWIN इसका काम वैक्सीन कि निगरानी करना

COWIN के दूसरे और अधिक जटिल कार्य डिजिटल रूप से विभिन्न चरणों को इक्कट्ठा करना है, ठीक उसी समय से जब तक वैक्सीन फैक्ट्री से बाहर है और जब तक यह एक प्राप्तकर्ता को प्राप्त नही होती।

इसका काम उचित तापमान पर वैक्सीन की प्रत्येक खुराक की गति की निगरानी करना है।

लाभार्थियों के लिए अलग से स्वास्थ्य आईडी

लाभार्थियों के नामांकन के लिए, प्रत्येक व्यक्ति के लिए अलग से स्वास्थ्य आईडी बनाई जाएगी। “जिन लोगों के पास आधार नहीं है या वे ओटीपी के साथ आधार प्रमाणीकरण नहीं कर सकते हैं, उन्हें मोबाइल नंबरों के माध्यम से जानकारी दी जाएगी।

सभी राज्यों के लिए एक ही दिशानिर्देश में कहा गया है कि COWIN पोर्टल का उपयोग आम जनता के स्व-पंजीकरण के लिए भी किया जा सकता है।

इसका उपयोग राज्य और जिला स्तर के प्रवेश के निर्माण के लिए भी किया जाएगा। टीका करने वालो और पर्यवेक्षकों के डेटाबेस और covid-19 टीकाकरण का डाटा सेव करने के लिए किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Batla House Encounter : आरोपी अरीज खान बाटला हाउस का दोषी पाया गया, 2008 के विस्फोटों का मास्टरमाइंड भी #Batla House Encounter

Batla House Encounter : आरोपी अरीज खान 2008 के विस्फोटों का आरोपी Batla House Encounter : एक स्थानीय अदालत...

जानें क्या होता है सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड लोन, दोनों में क्या अंतर है

लोन का जिक्र घूमने पर दो शब्द अक्सर सुनाई देते हैं- सिच्योर्ड लोन और अनसिक्ट्योर्ड लोन। हालांकि ज्यादातर लोगों को इन दोनों...

मार्च के महीने में निपटा लें फाइनेंस और टैक्स के ये जरूरी काम, नहीं तो परेशान होंगे

मार्च के महीने में करदाताओं को टैक्स से जुड़े कई जरूरी काम करने होते हैं। मार्च महीने के...

टैक्स सेविंग टिप्स: ये 5 खर्चे बचाते हैं आपका टैक्स, जानें इनके बारे में

हर कोई विभिन्न तरह के निवेश के जरिए अपनी कमाई को टैक्स के रूप में देने से बचाने की कोशिश करता है। ...

Recent Comments