Latest Barish Shayari बारिश समझनी है तो किसानों के चेहरे पढो..इन शायरियों ने तो इसे इश्क के दायरे में बांध रखा है ! तुम थे...